Friday, May 28, 2010

गॊरे हैं गुरुजी



यह कार्टून मेरे मित्र मंसूर नकवी ने बनाया है।

4 comments:

honesty project democracy said...

चलो कुछ तो शर्म बाकि है,जो कार्टून में दिख रहा है ?

माधव said...

हा हा हा हा हा हा ...........

सुनील दत्त said...

लोगों के खून के प्यासे आतंकवादियों व उनके समर्थकों के ऐसे चित्र बनाओ को अच्छा लगेगा

सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट) said...

बहुत ही बेहतर प्रयास..शुभकामनाएं !