Monday, June 1, 2009

पत्रकार का दाम एक सौ एक

पत्रकार बहुत सस्ते हो गए हैं। अब महज एक सौ एक रुपए में भी काम कर जाते हैं। इसलिए तो कांग्रेस की एक प्रदेश महासचिव ने संवाददाता सम्मेलन समाप्त होने के बाद पत्रकारों को प्रेस नोट के साथ लिफाफे में एक सौ एक रुपए थमा दिए।
दरअसल कांग्रेस कार्यकर्ता जाहरा खान उत्तर प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी का महासचिव मनोनीत की गई। इस अवसर पर उन्होंने पार्टी सुप्रीमो सोनिया गांधी को धन्यवाद देने के लिए पूर्व सांसद और कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी रहे रमेश चंद तोमर के साथ एक मंच पर आईं।

पत्रकार सम्मेलन जब समाप्त हुआ तो जाहरा खान ने सभी पत्रकारों को एक लिफाफे में रखकर प्रेस विज्ञप्ति दी। पत्रकारों ने जब से खोलकर देखा तो उसमें विज्ञप्ति के साथ 101 रुपए भी मौजूद थे। जब पत्रकारों ने उनसे रुपए के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि यह उन्होंने पत्रकारों को उनके कार्यालय आने का किराया दिया है। यह सुनकर सभी पत्रकार भड़क गए। सभी पत्रकारों ने पैसे वापस कर दिए और विज्ञप्ति लेकर वहां से जाने लगे।

उन्होंने सम्मेलन के बाद आयोजित भोज के निमंत्रण को भी नामंजूर कर दिया। इसके बाद काग्रेस कार्यकर्ता मांफी मांगने लगे। जाहरा खान पत्रकारों के आगे हाथ जोड़कर खड़ी हो गई और अपने किए पर शर्मिदा होकर मांफी मांगने लगी। पैसों के संबंध में जब रमेश चंद तोमर से पूछा गया तो उन्होंने लिफाफे में पैसे रखने के मामले पर अनभिज्ञता जाहिर कर दी। उनका कहना था कि उन्हें नहीं पता कि लिफाफे में पैसे किसने रखे।

3 comments:

अभय मिश्रा said...

भोज ठुकरा कर पत्रकारों ने एक मिसाल कायम की है, और उन पत्रकारों को आईना भी दिखाया है जो प्रेस वार्ता में जाते ही गिफ्ट के लिये है

Ratan Singh Shekhawat said...

बहुत ही घटिया हरकत !

Suman said...

sach ligha hai. news ka paisha latai hai.